प्रतिभावानो को मिल रही पेटेंट की सुविधा 

प्रतिभावानो को मिल रही पेटेंट की सुविधा 

149
0
SHARE

विज्ञान और तकनीकी विषयो सहित ज्ञान-विज्ञान के किसी भी छेत्र में अपने अविष्कारों को पेटेंट करवाने के लिए छतीसगढ़ में विशेष सुविधा छतीसगढ़ के प्रतिभावान छात्रों व नागरिको के अविष्कारों को पेटेंट करने की सुविधा मिल रही है. विज्ञान और तकनीकी विषयों सहित ज्ञान विज्ञान के किसी भी छेत्र में अपने अविष्कारों को पेटेंट करवाने के लिए मार्ग दर्शन सहित अन्य जरुरी सुविधाएं दी जा रही है. विधानसभा मार्ग स्थित विज्ञान केंद्र में इसके लिए पेटेंट सुविधा केंद्र में छत्तीसगढ़ राज्य के शोधार्थी अपने अनुसंधान कार्यो से अर्जित बौद्धिक संपदा को सुरक्षित रखने तथा पेटेंट करवाने के लिए आवेदन कर सकते है. उन्हें आवश्यक मार्गदर्शन भी दिया जा रहा है. पेटेंट से संबंधित आवेदन पत्रों का समुचित परीक्षण करने के बाद उन्हें मुंबई स्थित पेटेंट कार्यालय को अग्रेषित किया जाता है. अधिकारियों ने कहा कि पेटेंट सुविधा केंद्र में कॉपी राईट, ट्रेडमार्क, डिजाइन, भौगोलिक संकेतिक जीआई और अन्य बौद्धिक संपदा अधिकारों के लिए सर्च रिपोर्ट बनवाने के लिए भी सहायता दी जा रही है. इतना भी नहीं बल्कि पेटेंट सुविधा केंद्र उच्च शिक्षा संस्थाओ और औधौगिक संस्थाओ को उनकी संस्थाओं की बौद्धिक संपदा नीति बनाने के लिए भी प्रोत्साहित किया जा रहा है . छतीसगढ़ विज्ञान एवं प्रोधोगिकी परिषद् ने इसके लिए समय समय पर व्याख्यान मालाओ और जागरूकता कार्यक्रमो का भी आयोजन किया है. राज्य के विश्वविध्यालयो और तकनीकी संस्थाओं को उनके पेटेंट योग्य नवीन शोध कार्यो के लिए भी इस सुविधा केंद्र के जरिए जानकारी और सहायता दी जा रही है. इस सबंध में विस्तृत जानकारी परिषद् की वेवसाईट सीजीसीओएसटी डॉट एनआईसी डॉट इन पर अपलोड की जा सकती है. अविष्कारों का पेटेंट करवाने के इच्छुक शोधार्थी इसके लिए परिषद् के वैज्ञानिक डॉ0 अमित दुबे से संपर्क कर सकते है. इसके अलावा छतीसगढ़ विज्ञान एवं प्रोधोगिकी परिषद् से भी संपर्क किया जा सकता है.

LEAVE A REPLY