हुक्का बारो के खिलाफ अभियान 

हुक्का बारो के खिलाफ अभियान 

160
0
SHARE

मुंबई: हुक्का बार एक ऐसी जगह जिसके बारे में आपने कई बार सुना होगा लेकिन अंदर क्या होता है ये बहुत कम लोगो को पता है. बंद कमरा दुधिया रौशनी और धुंए का छल्ला ये तीन अहम् बाते है जो मुंबई में  आलिशान हुक्का पार्लर देख सकते है. यहाँ युवाओं को हुक्के में अलग अलग फ्लेवर का नशा दिया जाता है. सबकुछ भुलाकर युवा अपनेआप को हुक्के में बहाते है. पिछले कुछ वर्षो में मुंबई में हुक्का पार्लर का कल्चर बहुत बढ़ गया है. कॉलेज जानेवाले छात्रों में तो हुक्के को लेकर क्रेज दिन ब दिन बढ़ता जा रहा है और यही वजह है कि हुक्के की लत से छुड़ाने के लिए विरोध सुरु हो गया है. मुंबई के मेयर विश्वनाथ महादडेश्वर ने हुक्का पार्लर को बंद करने की मांग को लेकर मुंबई पुलिस कमिश्नर को शहर के सभी हुक्का पार्लर पर कारवाई करने को कहा था. वैसे मेयर महादडेश्वर पेशे से टीचर भी है और युवाओं को इस तरह धुंए का छल्ला उड़ाते हुए अपनी जिंदगी से खेलने को सहन नहीं कर पा रहे है. पिछले काफी समय से मुंबई में तेजी से पनपे हुक्का पार्लरो का विरोध किया जा रहा है लेकिन पिछले दिनों कमला मिल्स कंपाउंड के एक पब में लगी आग से यह विरोध बढ़ गया है, क्युकि पब में हुक्को की वजह से आफ लगी थी और अब यही विरोध राजनितिक रंग लेता जा रहा है. राष्ट्रीय स्वाभिमान पार्टी से जुड़े नितेश राणे मुंबई को हुक्का मुक्त रखने के लिए मुहिम सुरु करनेवाले है जिसके लिए 12 जनवरी से हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा. नितेश के मुताविक मुंबई ने जिन स्थानों पर सबसे अधिक हुक्का पार्लर है वहां वैसे अभियान लगातार होंगे.

LEAVE A REPLY