नएमसी बिल स्थायी समिति के पास भेजा

नएमसी बिल स्थायी समिति के पास भेजा

185
0
SHARE

 
नई दिल्ली: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने भारतीय चिकित्सा परिषद् एमसीआई की जगह नया संगठन बनाने के प्रस्तावित कानून के खिलाफ 12 घंटे के राष्ट्रव्यापी आंदोलन को वापस ले लिया है. विधेयक को संसद की स्थायी समिति के पास भेजे जाने के बाद उसने पड़ताल वापस लिया. समिति को बज़ट सत्र से पहले रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है. राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग NMC विधेयक को शुक्रवार को संसद में पेस किया गया था जिसमे MCI के स्थान पर नया संगठन बनाने के अलावा हेम्योपैथी और आयुर्वेद के चिकित्सको के एक ब्रिज कोर्स करने के बाद उन्हें भी एलोपैथ की चिकित्सा करने की अनुमति देने का प्रावधान है. आंदोलन का नेतृत्व कर रहे आईमए के.के अग्रवाल ने कहा, हमने अपनी हड़ताल वापस ले ली है क्युकि विधेयक को संसद की स्थायी समिति के पास भेज दिया गया है जिसमे विभिन्न छेत्रो के सदस्य है और अब सार्थक चर्चा होनी चाहिए. हम समर्थन के लिए लोकसभा के सभी सदस्यों के आभारी है. आईमए की तरफ से बुलाई पड़ताल मंगलवार को आठ घंटे चली. विपक्षी दलों के साथ ही चिकित्सको के विरोध के बाद विधेयक को समिति के पास भेजा गया. IMA यह कहते हुए विधयेक का विरोध कर रहा है कि इससे चिकित्सा पेशेवर पूरी तरह नौकरशाही के प्रति जबावदेह होंगे जिससे उनका कामकाज बुरी तरह प्रभावित होगा. उसने मंगलवार के दिन को काला दिन घोषित किया था. इससे पहले केन्द्रीय स्वास्थ मंत्री जे पी नड्डा ने संसद में कहा कि संदेहों को दूर करने के लिए आईमए के साथ बातचीत जारी है. हमने उनकी बात सुनी है और अपने विचार भी रखे है. नड्डा ने राज्यसभा में कहा यह विधेयक चिकित्सा पेशेवरो के लिए लाभदायक है. भोजनावाश के बाद लोकसभा की कारवाई सुरु होने पर संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि कई अन्य दलों ने राष्ट्रीय आयुविज्ञान आयोग विधयेक को स्थायी समिति के पास भेजने के लिए कहा है.

LEAVE A REPLY