रेलवे को तेज रफ्तार की जरुरत 

रेलवे को तेज रफ्तार की जरुरत 

123
0
SHARE

नई दिल्ली : भारत में रेलवे को रफ्तार बढ़ाने पर निजी अध्ययन किया गया. सभी विकसित देशो के रेलवे की रफ्तार को देखते हुए ये पाया गया है की भारत में सुरुआत में सभी ट्रेनों के रफ्तार को बढ़ाने के लिए कुछ मुख्य सुझाव है. राजधानी और कुछ अन्य सुपर फास्ट ट्रेन अभी जिस रफ्तार से चल रही है उस रफ्तार से सभी ट्रेने चलने लगे तो रेलवे और जनता का लगभग 60% समस्या खत्म होगा और आर्धिक तेज वृद्धि लगातार बनी रहेगी जो जनता और सरकार के आय में तेज वृद्धि होगी, कारण बहुत समय का बचत होगा जो दूसरे कामो में लगा सकेंगे. रेलवे का जहां तक जमीन है दोनों तरफ 15 इंच का 7-8 फीट मजबूत दिवार बनाना होगा इसलिए की कोई भी बड़े जानवर रेलवे ट्रैक पर नहीं आये. अभी रोजाना सैकड़ो जानवर ट्रैक पर आ जाते है और कट जाते है, जिससे दुर्घटना होने की संभावना अधिक रहती है. सभी राज्य सरकार अपने अपने राज्य के छेत्रो में रेलवे से करार कर दिवार बना सकते है क्युकि कई लाख किलोमीटर रेलवे ट्रैक है. रेलवे भी अपने स्तर पर टेंडर कर पारदर्शिता के साथ मजबूत दीवार बनवा सकते है. जब ये सुनिश्चित हो जाएगा की रेलवे ट्रैक बिल्कुल खाली है सिंग्नल मिलने के बाद तेज रफ्तार से गाड़ी दौराने में ड्राईवर को कोई परिशानी नहीं होगी, यह भय नहीं रहेगा की ठंड के कारण धुंध है, धुंध में भी रफ्तार एक सामान रहेगा क्युकि सिंग्नल और ड्राईवर को अगले स्टेशन तक के लिए कन्फर्म सुचना स्टेशन पर ही दे दिया जाएगा. इंजन और ट्रैक की मजबूती का विशेष ख्याल किया जाएगा. अभी ये सुनकर कितने यात्री बहुत परेशान रहते है और कितना तो यात्रा कैंसिल करा देते है इसलिए की कितने ट्रेन 5-20 घंटे तक लेट चलती है. अभी लगभग सभी ट्रेनों में कन्फर्म सिट के अलावे वेटिंग वाले लोगो की संख्या 10-25% तक रहता है.

LEAVE A REPLY