भारी बर्फबारी में नियंत्रण रेखा पर पांच सैनिक लापता 

भारी बर्फबारी में नियंत्रण रेखा पर पांच सैनिक लापता 

163
0
SHARE

श्रीनगर : जम्मू कश्मीर में सोमवार से जारी भारी बर्फबारी के बीच घाटी के गुरेज और नौगाम सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास से पांच सैनिक लापता है. एक सैन्य अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी. घाटी में भाड़ी बर्फबारी और बारिश हो रही है. मौसम विभाग के मुताबिक राज्य में पशिचमी विछोभ के प्रभावों के कारण मौसम की यह स्थिति गुरूवार तक बदस्तूर जारी रहेगी. सैन्य प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि कुपवाड़ा जिले के नौगाम सेक्टर से दो सैनिक ढलान से नीचे गिर गय जबकि अन्य तीन भाड़ी बर्फ़बारी के दौरान बांदीपुरा जिले के गुरेज की कंजालवान सब सेक्टर की अग्रिम चौकी से लापता हो गए. उन्होंने बताया कि लापता सैनिक को पता लगाने के लिए खोज और बचाव अभियान जारी है. इससे पुलिस के एक अधिकारी ने बताया था कि गुरेज सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास बक्तूर सैन्य चौकी के हिमरस्खलन की चपेट में आ जाने के बाद तीन सैनिक लापाता हो गए थे. गुरेज सेक्टर के तुलैल में हिमरस्खलन की चपेट में आने के बाद सोमवार से ही सेना का एक पोर्टर लापता है. बर्फ़बारी और बारिश के कारण श्रीनगर हवाईअड्डे पर मंगलवार उड़ान परिचालन निलंबित किए जाने और जम्मू कश्मीर राष्ट्रीय राजमार्ग एवं मुगल रोड के बंद होने के कारण देश के शेष हिस्सों से कश्मीर घाटी जाने के मार्ग बाधित हो गए. दूसरी ओर सुरनकोट में भाड़ी बारिश और बर्फ़बारी के कारण फंसे 70 से अधिक लोगो को मंगलवार को बचा लिया गया. सुरनकोट थाना के स्टेशन हाउस ऑफीसर अनवर ने बताया कि सुरनकोट के उंचाई वाले इलाके में भारी बर्फ़बारी के कारण सोमवार आसपास की गली के निकट चतनपानी-पुशाना में राज्य के बाहर के 42 श्रमिको सहित 70 से अधिक यात्री फंस गये थे. उन्हें बचा लिया गया है. कश्मीर को पुंछ और राजौरी दो जिलो से जोड़ने वाली रोड के आसपास भारी बर्फ़बारी हो रही है. जम्मू कश्मीर के बड़े छेत्र में 11 से 15 दिसंबर के बीच हल्की से लेकर भारी बर्फ़बारी और बारिश के अनुमान को देखते हुए एहतियाती उपाए के तौर पर रविवार शाम को सड़क को बंद कर दिया गया था.

LEAVE A REPLY