राहुल की आईटी सेल में रमैया उर्फ दिव्या

राहुल की आईटी सेल में रमैया उर्फ दिव्या

275
0
SHARE


कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सोशल मीडिया में एक नये अवतार के तरह उभरे है. इसका प्रमुख कारण है कन्नड़ फिल्मो की पूर्व अभिनेत्री दिव्या स्पंदन उर्फ रमैया है, जिन्होंने गुजरात चुनाव में भाजपा बनाम  कांग्रेस को सोशल साईट पर बेहद आक्रामक और मारक बना दिया है. अपनी अमेरिका यात्रा से पूर्व ही राहुल गांधी ने कांग्रेस के आईटीसेल के प्रमुख दीपेन्द्र हुड्डा को चलता कर उसकी जगह रमैया को आईटी सेल की कमान सौपी है. दिव्या पहले भी दीपेन्द्र हुड्डा के टीम में थी हुड्डा अपने तरीके से आईटीसेल को हैंडिल कर रहे थे. हुड्डा पहले भी प्रतिक्रिया देने में देर कर रहे थे. शायद यही वजह है की मोदी की आर्मी राहुल को सोशल मीडिया पर आसानी से ट्रोल कर देती थी. पर जब से रमैया ने मोर्चा संभाला है राहुल के पंख फरफराने लगे है. गुजरात की पृष्ठभूमि में नारा दिया गया है “विकास, गांदो थयो छे” यानी गुजरात में विकास पगला गया है. दिव्या को फ्री हैण्ड दिया गया है कि सोशल सेल को जैसे मर्जी चलाये उसने भी जोरदार गलत बातो के भी लटके झटके, ठुमके लगाए है.
जैसे जीएसटी यानी गब्बर सिंह टैक्स पुकारना भी शामिल था. इनके आईटीसेल में ७०-८०% लडकियां और महिलाएं काम करती है और वेहद हमलावर मुद्रा में है. बात तो बिल्कुल सही है राहुल ऐसे धूमकेतु है जहां बड़ा धमाका करना हो इनको फ्री हैण्ड कर दीजिए फिर देखिये भारत के किसी भी राज्य में बड़ा बदलाव करना हो या दुनिया के किसी भी हिस्से में धमाल मचाना हो, या अंतरिक्ष में बड़ा फिस्फोट करना हो बहुत नेक, बहादुरी और ईमानदारी से करते है. कांग्रेस को चाहिये की इनको विल्कुल फ्री हैण्ड दिया जाये फिर देखिए जो भी काम ७० सालो में न हुआ है ओ काम ये ५-6 महीनो में कर देंगे. इनके पास २० साल का तगड़ा अनुभव है राजनीति का किसको कहां भेजना है कैसे प्रचार करना कितना जोर से बोलना है की बड़ा डीजे बूम बूम करे भलीभांति आती है. हां इनको सपोर्ट की जरूरत होता है तो बड्रा और परिवार को जरुर भेजा जाये उसके बाद क्या कहना है. क़यामत न आ जाये फिर राजनीति किस काम की, क्रिकेट के खेल की तरह दोहरा, तीसरा शतक मारकर सहवाग जी को मजबूर कर देंगे कोमेंट्री करने के लिए. कोहली, सचिन कितना अच्छा रिकोर्ड बना लिए है,बस रहा सहा कसर धोनी ने वर्ल्ड कप जीतकर पूरा कर दिए. उसी तरह कांग्रेस में कोई भी रिकोर्ड तोड़ना है तो राहुल जी बरेली की झुमके की तरह चमकते है, रिकोर्ड तोड़ देंगे भले ही बरेली की अधिकांश जनता तंग है परेसान है जहां सबसे बड़ा रिकोर्ड रहा है गांधी परिवार का ७० सालो में सबसे ज्यदा जीते है. राहुल गांधी अमर है राहू ग्रह की तरह ऐसा ग्रहण लगायेंगे की दुनिया हस्ती मुस्कुराती रहती है.

LEAVE A REPLY